Category:

Other

कोरोना संकट को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू है. ऐसे में लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस पर पथराव की ये पहली घटना नहीं है. देश के अलग-अलग हिस्सों में ऐसी घटनाएं कई बार सामने आ चुकी हैं. आइए आपको बताते है क्या है पूरा मा’मला.

जानकारी के लिए बता दें कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद में मस्जिद में नमाज पढ़ने को रोकने गई पुलिस पर लोगों ने पथराव किया. बताते चलें औरंगाबाद ग्रामीण में कल रात 8 बजे हुई इस घटना में तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे. साथ ही इस मा’मले में पुलिस ने अब तक 27 लोगों को गिरफ्तार किया है. बताया ये भी जा रहा है कि पुलिस पर प’थरा’व करने वाली भीड़ में महिलाएं भी शामिल थीं.

आपको बता दें कि संभाजी मार्ग पर स्थित एक मस्जिद में करीब 100 लोग नमाज पढ़ने जा रहे थे. पुलिस ने पहले उन्हें रोका और लॉकडाउन का हवाला देकर अपने-अपने घर लौट जाने की अपील की. इस दौरान कुछ लोग भड़क गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. इस हमले में तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए है. पथराव की खबर पाकर मौके पर मौके पर भारी संख्या में फोर्स पहुंच गई और लोगों को हटाया. साथ ही घायल पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस मा’मले में पुलिस अब तक 27 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. साथ ही कई लोगों की तलाश की जा रही है. प’थरा’व में महिलाएं भी शामिल थीं।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

शास्त्रों के अनुसार जब भी कोई धार्मिक या शुभ काम की शुरुआत करने से पहले धरती माता का पूजन करना शुभ माना जाता है। धरती माता पर सात स्वर्ग विद्यमान हैं। उनके नीचे सात पाताल और ऊपर ब्रह्मलोक है। ब्रह्मलोक से भी ऊपर एक लोक है जिसे ध्रुवलोक कहा जाता है। इंसान को सुबह बिस्तर छोड़ने के बाद धरती माता पर पग रखने से पहले उन्हें प्रणाम करना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में परेशनियाँ नहि आती।कहते हैं सुबह उटकर सबसे पहले भगवान का नाम लेना चाहिए उसके बाद ही दिन की शुरुआत करनी चाहिए।

सुबह बिस्तर छोड़ने के उपरांत धरती माता को प्रणाम करते समय इस मंत्र का जाप पूरी श्रद्धा और विश्वास से किया जाने से उनकी कृपा प्राप्त की जा सकती है। 
पृथ्वी पूजन मंत्र
मंत्र इस प्रकार है- 
ऊँ ह्रीं श्रीं वसुधायै स्वाहा। 

जो पुरुष प्रातः काल इस मंत्र का जाप करता है, उसे बलवान राजा होने का सौभाग्य अनेक जन्मों के लिए प्राप्त होता है।इसे पढ़ने से मनुष्य पृथ्वी के दान से उत्पन्न पुण्य का अधिकारी बन जाता है। जिस धरती पर हम रहते हैं उसका रोज़ाना नमन करने से जीवन सफल बनता है।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

पटियाला में जनता कर्फ़्यू के दौरान जिस एसअई हरजीत सिंह का हाथ निहांग सिखों ने हम’ला करके तल’वार से का’ट दिया था अब सर्जरी के बाद उनका हाथ धीरे-धीरे काम करने लगा है। खुद पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने वीडियो शेर करके इस बात की जानकारी दी है। हरजीत सिंह इस समय पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती हैं। बात दें, पंजाब पुलिस ने उनके साहस को देखते हुए उन्‍हें असिस्‍टेंट सब इंस्‍पेक्‍टर से सब इंस्पेक्टर रैंक पर पदोन्नत कर दिया है।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा ‘पीजीआई में सब इंस्‍पेक्‍टर हरजीत सिंह के हाथ का ऑपरेशन हुए दो हफ्ते पूरे हो चुके हैं। मुझे यह बताते हुए काफी खुशी हो रही है कि उनके स्‍वास्‍थ्‍य में तेजी से सुधार हो रहा है और उनके हाथ ने दोबारा धीरे-धीरे काम करना शुरू कर दिया है। मैं साहसी हरजीत सिंह का यह वीडियो आपके सबके साथ साझा कर रहा हूं।

पंजाब पुलिस एसआई हरजीत की बहादुरी को सलाम कर रहा है। बता दें आज करीब 80 हजार पंजाब पुलिस के जवानों के सीने पर एक ही नाम का बैज दिखा- हरजीत सिंह। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने भी अपनी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैज लगाया।

पंजाब पुलिस के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि यह मुश्किल समय में हरजीत सिंह और अन्य पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाने की एक अभूतपूर्व कोशिश है। लोगों से अपील भी है कि वह पुलिस का सहयोग करें। किसी भी तरह से पुलिस के खिलाफ हमलावर न हों, पुलिस आपकी सुरक्षा के लिए है।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

देश भर में कोरोना वायरस से निपटने के लिए 3 मई तक लॉकडाउन लागू है। देश में 3 मई को लॉकडाउन खत्म होगा या जारी रहेगा अभी इसपर सस्पेंस बरकरार है।सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के संग बैठक की जिसमें कई राज्यों के सीएम ने 3 मई के बाद भी लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की है। पीएम मोदी ने बैठक में कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई को हमें धैर्यपूर्वक लड़ना होगा। अब देखना ये हैं कि लॉकडाउन ख़त्म होगा या फिर आगे बढ़ाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैठक में कहा कि देश में लॉकडाउन का निश्चित तौर पर असर पड़ा और कोरोना संकट के मामले में भारत पर वैसा व्यापक असर नहीं पड़ा जितना दूसरे देशों पर पड़ा। लेकिन अब जान भी जहान को ध्यान में रखते हुए 3 मई के बाद सतर्क भरी रणनीति बनानी होगी जिसमें लोगों की आजीविका भी सामान्य होने की ओर बढ़े और रोग के रोकथाम के लिए हर जरूरी एहतियात कदम बने रहे। पीएम ने मीटिंग में कहा कि यह लंबी लड़ाई है, हमको धैर्यपूर्वक लड़ना है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अर्थव्यवस्था को लेकर टेंशन न लें, हमारी अर्थव्यवस्था अच्छी है. बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश के अलग-अलग जिलों को जोन के हिसाब से बांटा है, अभी करीब 170 से अधिक जिले रेड जोन में शामिल हैं.पीएम ने राज्यों से कहा है कि वह क्षेत्र में स्थिति के अनुसार जोन के हिसाब से लॉकडाउन खोलने का प्लान बनाएं.


पीएम मोदी संग बैठक में लगभग 10 राज्यों ने लॉकडाउन आगे बढ़ाने की अपील की है जहां अभी भी कोरोना के केस अधिक मिल रहे हैं। इनमें दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश जैसे राज्य शामिल है।बता दे, तेलंगाना ने पहले ही 7 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर रखा है।

सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी सहित सभी सीएम की आम राय यह बनती रही कि 3 मई के बाद अचानक ढील दिए जाने के हालात नहीं है।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

देश में महामारी कोरोना वायरस से संकट दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. अब तक कोरोना वायरस से मरीजों की संख्या 27000 के पार पहुंच चुकी है. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में इसके 27892 केस सामने आ चुके हैं. साथ ही 872 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इसमें से 6184 लोगों का सफलतापूर्वक इलाज किया जा चुका है. आपको बता दें कि देश में अभी लॉकडाउन का दूसरा चरण चल रहा है और इसे 3 मई के बाद आगे बढ़ाया जाये या नहीं, इस पर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंथन किया.

पीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्रियों ने अपनी-अपनी राय रखी. इस दौरान मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने भी लॉकडाउन पर पीएम मोदी को अपने विचार बताये. कोनराड संगमा ने बताया कि हम चाहते हैं मेघालय में 3 मई के बाद भी लॉकडाउन जारी रहे ताकि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोका जा सके. हालांकि, संगमा ने ये भी कहा कि जो इलाके ग्रीन जोन में हैं या जो जिले कोरोना प्रभावित नहीं हैं वहां बाद में थोड़ी राहत दी जाये.

दिलचस्प बात ये है कि मेघालय देश का वो राज्य जो कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में काफी नीचे है यानी मेघालय की स्थिति काफी बेहतर है. मेघालय में 26 अप्रैल शाम 5 बजे तक कोरोना मरीजों की संख्या महज 12 थी, जबकि यहां कोरोना से एक शख्स की मौत हुई है. मेघालय के नीचे गोवा, पुडुचेरी, मणिपुर, त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम ही ऐसे छोटे राज्य हैं जहां कोरोना का असर सबसे कम है. बावजूद इसके मेघालय के सीएम कोरोना का प्रसार रोकने के लिये लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं. मेघालय के अलावा ओडिशा ने भी लॉकडाउन बढ़ाने पर सहमति जताई है. हालांकि, केंद्र सरकार ने फिलहाल इस पूरे मसले पर कुछ फैसला नहीं लिया है

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग उन की सेहत को लेकर बीते कुछ दिनों से हर दिन एक नई खबर सामने आ रही हैं. कोई किम जोंग की हालत को गंभीर बता रहा है तो कोई उन्हें स्वस्थ बता रहा है. काफी लंबे समय से उन्हें देखा नहीं गया है. आखिरी बार किम 11 अप्रैल को पब्लिक में देखे गए थे.

इस बीच कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं हालांकि एक पूर्व उत्तर कोरियाई अधिकारी ने अब इस किम को लेकर नया दावा किया है. दरअसल पूर्व उत्तर कोरियाई अधिकारी ने दावा किया है कि किम जोन उंग मिसाइल टेस्‍ट के दौरान घायल हो गए थे और इसी वजह से वो दिखाई नहीं दे रहे हैं. यह जानकारी ली जिओंग हो ने दी है. वो किम जोंग उन की वर्कस पार्टी के एक अधिकारी हैं. उन्होंने एक दक्षिण कोरिया के समाचार पत्र में लिखा कि किम जोंग उन 14 अप्रैल तक स्‍वस्‍थ थे और उन्‍होंने मिसाइल टेस्‍ट का आदेश दिया था. संभवत: इसी दौरान वो घायल हो गए और इसी वजह से दिखाई नहीं दे रहे हैं.

ली जिओंग हो ने अपने दावे में कहा है कि वैसे तो किम मिसाइल टेस्ट में खुद मौजूद नहीं थे लेकिन उस मिसायल टेस्ट का कोई वीडियो जारी नहीं करने के कारण ऐसा लग रहा है कि मिसाइल के मलबे या आग से किम के साथ कोई दुर्घटना हुई है. इसके साथ ही हो ने उन सभी दावों को खारिज किया जो इस वक्त किम को लेकर किया जा रहा है. ऐसा ही एख दावा उनके ब्रैन डेड होने का है. किम के कई दिनों से दिखाई न देने के कारण कई देशों में किम को लेकर कहा जा रहा है कि उनकी हालत नाजुक है. साथ ही कई रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया जा रहा है कि किम जोंग उन कोरोना वायरस से डर गए हैं और इस महामारी से बचने के लिए कहीं छिप गए हैं.

0 comment
1 FacebookTwitterPinterestEmail

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार ग्रहों के राजा सू्र्य का राशि परिवर्तन होने वाला है। ज्योतिषियों के अनुसार सूर्यदेव शनि की राशि से निकलकर गुरु की राशि मीन में प्रवेश करने वाले हैं।सूर्य के इस गोचर को मीन संक्रांति भी कहा जा रहा है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस परिवर्तन से 4 राशि वाले लोगों के जीवन में बदलाव होंगे और साथ ही इन्हें बड़ी ख़ुश खबरी भी मिलेगी तो आइए जानते हैं अगले एक महीने किन राशियों पर क्या प्रभाव देखने को मिलेगा।

कुंभ, सिंह राशि- इस राशि धनलोगों की कुंडली में धन लाभ के योग बन रहे हैं। आपको जल्दी ही आप अछी ख़बर मिलने वाली हैं। आने वाले समय में आपको सफलता मिलेगी। कोई छोटी सी चीज आगे जाकर आपके लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। कोई बात आपको खुश कर सकती है। लव लाइफ बहुत ही अच्छी रहेगी। आपकी प्यार भरी जिंदगी में कुछ सकारात्मक बदलाव भी आ सकते हैं।

तुला, मीन राशि- आपको दुगनी मेहनत करनी पड़ सकती है। इसका फल भी आपको जल्द ही मिलेगा। इनकम में बढ़ोतरी हो सकती है। आर्थिक स्थिति में सुधार आ सकता है। सेहत संबंधी कोई पुराना रोग से छुटकारा मिल सकता है। परिवार संबंधित कोई खुशखबरी भी आपको मिल सकती है। आर्थिक रुप से यह समय बहुत ही अच्छा रहेगा। नौकरी और धंधे की चिंता खत्म हो सकती है। नौकरी में आपको दूसरी कंपनियों से कॉल भी आ सकता है। रोज कामों के मामले में आपको सफलता मिल सकती है।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

कोरोना का डर हम सबके अंदर घर कर गया है. पूरी दुनिया में कोरोना वायरस कोहराम मचा रहा है. लोग कोरोना से दहशत में हैं. कोरोना की उत्पत्ति चमगादड़ से हुई है. ऐसे में अब हर कोई चमगादड़ को देख या उसके नाम सुनकर सतर्क हो जाता है. बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन ने चमगादड़ से जुड़ी अघटना के बार में जिक्र करते हुए सोशल मीडिया पर एक बात सामझा की है.

आप सबको तो पता ही होगा कि बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन सोशल मीडिया पर कितने सक्रिय रहते हैं. इसके माध्यम से वो अपने प्रशंसकों संग हमेशा जुड़े रहते हैं. जानकारी के लिए बता दें कि अमिताभ उन सितारों में से हैं, जो इस मंच के सहारे अपनी दैनिक व पेशेवर जिंदगी से जुड़ी कई बातें यूजर्स संग साझा करते हैं.

बताते चलें कि हाल ही में उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक चमगादड़ के उनके कमरे में घुसने की बात की जानकारी लोगों को दी. अपनी एक तस्वीर के साथ कैप्शन में उन्होंने लिखा, “ब्रेकिंग न्यूज!!! इस घंटे की बड़ी खबर..एक चमगादड़, हां एक चमगादड़ अभी-अभी मेरे कमरे में घुस आया. जलसा के तीसरे माले पर.. जहां हम सभी बैठकर गपशप कर रहे थे.. इससे पहले इस इलाके या मेरे घर या कमरे में पहले कभी नहीं देखा!!! और हमारा ही घर मिला उसे! कोरोना तो पीछा छोड़ ही नहीं रहा! उड़ उड़ के आ रहा है, कमबख्त!!!”

अमिताभ बच्चन के इस पोस्ट के बाद उनके प्रशंसकों के साथ साथ बॉलीवुड के कई कलाकारों ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी हैं. आपको बता दें कि अभिनेत्री भूमि पेडनेकर ने लिखा, “हे भगवान!!!” अहाना कुमरा लिखती हैं, “हे ईश्वर! कृपया सावधानी से रहिए!!!” अभिनेता रोहित रॉय ने लिखा, “यह खतरनाक है!!!”

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

कोरोना का कहर देश में दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है. ऐसे में आज दिल्ली पुलिस ने अपने ही महकमे की एक महिला हवलदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. जानकारी के लिए आपको बता दें कि उन पर आरोप लगा है कि महिला हवलदार ने डॉक्टर के निर्देशों का उल्लंघन किया. इतना ही नहीं उसकी इस गंभीर लापरवाही की वजह से कई अन्य लोगों के बीच कोरोना की बीमारी फैलने का अंदेशा भी बढ़ गया है. यही वजह है कि दिल्ली पुलिस ने इस महिला हवलदार के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

क्या है मामला

महिला हवलदार का नाम नीलम है, जो एकता एंक्लेव पीरागढ़ी में रहती हैं. वह दिल्ली पुलिस में तैनात हैं. 10 अप्रैल को डॉक्टर ने जांच के बाद नीलम को होम क्वारंटाइन में रहने का आदेश दिया था. निर्देशों का पालन सही तरीके से हो रहा है या नहीं इसे लेकर वरिष्ठ अधिकारियों ने नीलम के घर जाकर चेक करने के लिए कहा. सिपाही वीरेंद्र ने समय-समय पर जाकर नीलम के हालात जानने चाहे लेकिन वह अपने घर पर मौजूद नहीं थी. कई दिनों तक नीलम का कोई अता पता भी नहीं मिला तो पुलिसकर्मियों इसकी सूचना अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी. जिसके बाद ये निर्णय लिया गया कि नीलम के मोबाइल फोन की सीडीआर निकलवाई जाए. जब सीडीआर पुलिस के पास पहुंची और जांच की तो पुलिस को मालूम हुआ कि वह उस समय दिल्ली में नहीं बल्कि गुरुग्राम के कुकरोला पंचगांव, गुरुग्राम में थी.

यह बात सामने आने पर सभी हैरान रह गए कि दिल्ली पुलिस में ही तैनात हवलदार आखिर इतनी बड़ी लापरवाही या कहें कि गैर जिम्मेदाराना हरकत कैसे कर सकती है. जबकि उसे यह बखूबी मालूम है कि उसकी इस लापरवाही की वजह से न केवल दिल्ली के क्षेत्रों में बल्कि हरियाणा के गुरुग्राम में कोरोना फैलने का अंदेशा है. जिसके बाद इस बात को जिले के वरिष्ठ अधिकारियों व डीसीपी से भी डिस्कस किया गया. जिसमें निर्णय लिया गया कि महिला हवलदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लेनी चाहिए।

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail

पिछले महीने की 13 तारीख़ को मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते की 3 अतिरिक्त किश्तों पर रोक लगाने का फ़ैसला किया था. जानकारी के लिए बता दें कि इसमें इस साल 1 जनवरी से लागू की गई 4 फ़ीसदी की महंगाई दर भी शामिल है. कैबिनेट की मुहर के बाद इसका ऐलान किया गया था. हालांकि सरकार ने ये साफ़ किया है कर्मचारियों को वर्तमान दर के हिसाब से महंगाई भत्ता मिलता रहेगा. महंगाई भत्ते की वर्तमान दर 17 फ़ीसदी है.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अब इसी सब को लेकर सरकार के कदम की आलोचना करते हुए कहा है कि इस वक्त केंद्रीय कर्मियों और सैनिकों के लिए मुश्किल पैदा करना उचित नहीं है. कांग्रेस की ओर से जारी पार्टी के सलाहकार समूह की बैठक के वीडियो के मुताबिक मनमोहन सिंह ने ये भी कहा कि कांग्रेस को इस वक्त इन सरकारी कर्मचारियों और सैनिकों के साथ खड़े रहना है. जानकारी के लिए आपको बता दें कि मनमोहन सिंह हाल ही में गठित कांग्रेस सलाहकार समूह के अध्यक्ष हैं. इस समूह की बैठक एक दिन के अंतराल पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होती है.

उन्होंने कहा, “हमें उन लोगों के साथ खड़े होना है जिनके भत्ते काटे जा रहे हैं. मेरा मानना है कि इस वक्त सरकारी कर्मचारियों और सशस्त्र बलों के लोगों के लिए मुश्किल पैदा करने की जरूरत नहीं थी.” बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि एक तरफ तो सेंट्रेल विस्टा परियोजना पर पैसे खर्च हो रहे हैं और दूसरी तरफ मध्य वर्ग से पैसे लिए जा रहे हैं. ऐसा नहीं है कि यह पैसा गरीबों को दिया जा रहा है. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी कहा कि सरकार को कर्मचारियों को भत्ते कम करने के बजाय सरकार को सेंट्रल विस्टा परियोजना और दूसरे गैरजरूरी खर्च रोकने चाहिए.

0 comment
0 FacebookTwitterPinterestEmail